करवा चौथ पर कविता – Karwa Chauth Par Kavita in Hindi 2018

करवा चौथ पर कविता – Karwa Chauth Par Kavita in Hindi 2018

October 24, 2018 5 By Rupesh Goyal

करवा चौथ पर कविता 2018: करवा चौथ एक ऐसा त्यौहार है जिस दिन एक सुहागन स्त्री अपने पति की लम्बी उम्र के लिए उपवास रहती है और भगवान से प्रार्थना करती है| जो कार्तिक मास की कृष्ण पक्ष की चतुर्थी को मनाया जाता है। करवा चौथ का व्रत सुबह सूर्योदय से पूर्व प्रातः 4 बजे से प्रारंभ होकर रात में चंद्रमा दर्शन के बाद पूर्ण होता है। आज में आपके साथ इस पोस्ट “करवा चौथ पर कविता, Karwa Chauth Par Kavita in Hindi 2018” के माध्यम से करवा चौथ कविता 2018 सांझा कर रहा हु जिसे आप अपने पति, पत्नी, दोस्तों को आसानी से किसी भी सोशल मीडिया पर शेयर कर सकते हो

करवा चौथ पर कविता

करवा चौथ पर कविता - Karwa Chauth Par Kavita in Hindi 2018

ऐ चांद तुम जल्दी से आ जाना
भूखी-प्यासी मैं दिनभर की बेकरार
छलनी से करूंगी साजन का दीदार
शर्म लाल होंगे तब मेरे रुखसार
पिया मिलन में देर न लगा जाना
ऐ चांद तुम जल्दी से आ जाना।
मेहंदी रचे हाथ, सजे कंगन के साथ
पूजा का थाल, और ले करवा हाथ
मांगूंगी तुमसे रहे सजना सदैव साथ
लंबी उम्र का वर, पिया को दे जाना
ऐ चांद तुम जल्दी से आ जाना।
मेरा साज-श्रृंगार सब साजन से है
बिखरा जीवन में प्यार साजन से है
घर और परिवार सब साजन से है
सातों जन्म के साथ का वर दे जाना
ऐ चांद तुम जल्दी से आ जाना।
माना भूख से मैं न अकुलाऊंगी तब
पर पिया की बेचैनी मैं सह पाऊंगी कब
मेरे प्रिय पिलाए मुझे अधर सुधा जब
बादलों में तुम छुप जाना, पर पहले..
ऐ चांद तुम जल्दी से आ जाना।

करवा चौथ पर कविता हिंदी में

करवा चौथ पर कविता - Karwa Chauth Par Kavita in Hindi 2018

करवा चौथ का सुरीला चांद  
कितना 
मीठा और सलोना लगता है 
महकता और मोहता है 
जब 
मुस्कुराता है 
अखंड सुहागिनों के लिए…. 
करवा चौथ का सुरीला चांद 
बस इतना रखें याद 
आज उसे देर तक थिरकना है 
सच्ची सुहागिनों के लिए 
थोड़ा जल्दी दमकना है..

Karwa Chauth Par Kavita in Hindi 2018

करवा चौथ पर कविता - Karwa Chauth Par Kavita in Hindi 2018

आज करवा चौथ (जयकृष्ण राय तुषार)

आज करवा चौथ
का दिन है
आज हम तुमको सँवारेंगे ।
देख लेना
तुम गगन का चाँद
मगर हम तुमको निहारेंगे ।

पहनकर
काँजीवरम का सिल्क
हाथ में मेंहदी रचा लेना,
अप्सराओं की
तरह ये रूप
आज फ़ुरसत में सजा लेना,
धूल में
लिपटे हुए ये पाँव
आज नदियों में पखारेंगे ।

हम तुम्हारा
साथ देंगे उम्रभर
हमें भी मझधार में मत छोड़ना,
आज चलनी में
कनखियों देखना
और फिर ये व्रत अनोखा तोड़ना,
है भले
पूजा तुम्हारी ये
आरती हम भी उतारेंगे ।

ये सुहागिन
औरतों का व्रत
निर्जला, पति की उमर की कामना
थाल पूजा की
सजा कर कर रहीं
पार्वती शिव की सघन आराधना,
आज इनके
पुण्य के फल से
हम मृत्यु से भी नहीं हारेंगे ।

Karwa Chauth Par Kavita in Hindi For Husband

करवा चौथ पर कविता - Karwa Chauth Par Kavita in Hindi 2018

अगर आप Karwa Chauth Par Kavita in Hindi 2018, Karwa Chauth Par Kavita in Hindi, करवा चौथ पर कविता, Happy Karwa Chauth Status in Hindi 2018, karwa chauth status for friends, karwa chauth status for whatsapp, karwa chauth status for wife, karwa chauth status in punjabi, करवा चौथ पर कविता हिंदी में, करवा चौथ कविता हिंदी में,  करवा चौथ कविता, करवा चौथ स्टेटस 2018, करवा चौथ शायरी 2018, Happy Karwa Chauth Special Shayari in Hindi 2018, करवा चौथ पर शायरी हिंदी में 2018, karva chauth katha in hindi, करवा चौथ शायरी पति पत्नी के लिए, करवा चौथ की फोटो, करवा चौथ पर शुभकामनाये 2018, करवा चौथ पर कविता 2018 इन हिंदी लैंग्वेज, ढूंढ रहे है तो यह से प्राप्त कर सकते है| आशा करता हूँ आपको मेरी पोस्ट पसंद आएगी|

Karwa Chauth Par Kavita in Hindi

करवा चौथ पर कविता - Karwa Chauth Par Kavita in Hindi 2018

करवा चौथ का चाँद (बीना गुप्ता)

सुबह सवेरे मुंह अँधेरे
उठ पूजा कर, कुछ कौर
सखिसंग मुंह में धकेले

दिनभर बिन खानपान
कछुएसी घडी की चाल
पेट आंते मचाये भूचाल

साँझ बनसंवर पूजा कर
रीतिरिवाज निपटा कर
मौजमस्ती भी करी जीभर

अब पिया का राह ताकें
सभी को खिला पिलाकर
टकटकी लगी आसमान पर

ऐ चाँद कहाँ छुपे हो
आजाओ झलक दिखाओ
पूजा करवा व्रत तोडवाओ

एक चाँद पलकों में
एक इतराए अर्श पर
लुका छिप्पी करे बादलों में

अपने चाँद की उम्र के लिए पूजन
दूजे की झलक को उत्सुक यह मन
ऐ चाँद चांदनी को चंद लम्हे करो अर्पण

कहाँ छिपे हो निर्मोही
हलक जिव्हा सूखे मोरी
तपस्या सार्थक कीजो जल्दी

आज है करवा चौथ
पूरा दिन किया उपवास
ऐ चाँद दौडे आओ हमारे पास

करवा चौथ पर कविता - Karwa Chauth Par Kavita in Hindi 2018