रामनवमी पर कविता 2018 – Ram Navami Par Kavita in Hindi 2018

रामनवमी पर कविता 2018 – Ram Navami Par Kavita in Hindi 2018

October 15, 2018 0 By Rupesh Goyal

रामनवमी पर कविता 2018: सबसे पहले रामनवमी के सुबह अवसर पर रामनवमी की हार्दिक शुभकामनाये,अयोध्या के वासी राम,रघुकुल के कहलाये राम, पुरुषों में है उत्तम राम,सदा जपों हरी राम का नाम, “रामनवमी पर कविता 2018, Ram Navami Par Kavita in Hindi 2018, ‘रामनवमी पर कविता, Ram Navami Par Kavita in Hindi,

रामनवमी पर कविता “राजा हो श्रीराम के जैसा”

रामनवमी पर कविता 2018 - Ram Navami Par Kavita in Hindi 2018

मानव-वानर गले मिले हैं,बजा दिया है जग में डंका,
धर्म धरा पर फिर से उतरा, नष्ट किए दुष्टों की लंका।

धर्म सत्य पर आधारित हों, ज्ञान हो निर्मल गंगा जैसा,
भूख प्यास की पीड़ा न हो, हर मानव हो मानव जैसा।

नवराते में शक्ति पूजें, हर तन बने बज्र के जैसा,
राज करे चाहे कोई भी, राजा हो श्रीराम के जैसा।

हर शबरी के द्वार चलें हम, जहां अहिल्या दीप जलाएं,
राम तत्व है सबके अंदर, आओ फिर से उसे जगाएं।

शुभ-अवसर है राम-जन्म का, आओ सब मिल शीश झुकाएं,
अंदर बैठे तम को मारें, आओ मिलजुल खुशी मनाएं।

होने को बहुतेरी नवमी, इस नवमी की छटा निराली,
नवराते जग शक्ति पूजे, शीतल, ज्वाला, गौरी, काली।

राम जन्म जिस नवमी होता, उस नवमी की महिमा अद्भुत,
सृष्टि भी होती मतवाली, दिन में होली रात दिवाली।

रामनवमी की हार्दिक शुभकामनाये

Ram Navami Par Kavita in Hindi “मेरे राम की चिंता”

रामनवमी पर कविता 2018 - Ram Navami Par Kavita in Hindi 2018

राम मेरे आज दु:खियारे हुए
क्योंकि जनता के मन में अंधियारे हुए
भाई, भाई का दुश्मन बना बैठा है
असत्य का दानव सजा बैठा है।

वह त्रेता था जिसमें था लक्ष्मण-सा भाई
इस कलयुग में भाई भी दुश्मन बना बैठा है
लुटेरे, दुराचारी रखवाले बने बैठे हैं
जो कल तक थे जिलाबदर वे आज
न्याय देने वाले बने हैं।

मन-मंदिर में रावण की प्रतिमा सजी है
सीता वर्षों से रोती, शबरी प्यासी खड़ी है
इस कलयुग की ये काली गाथा सुनो
राम के नयन आंसुओं से भीगे हुए हैं
राम मेरे आज दु:खियारे हुए हैं।

ये चिंता है आज राम को सताती
नरगिस भी अपनी बेनूरी पर रोती
जैसे वो धीरे से है कह जाती
हे राम! तुम फिर इस धरा पे आओ
जनता को कष्टों से मुक्त कराओ।
रामनवमी की हार्दिक शुभकामनाये

रामनवमी पर कविता 2018 – Ram Navami Par Kavita in Hindi 2018

रामनवमी पर कविता 2018 - Ram Navami Par Kavita in Hindi 2018

अगर आप राम नवमी पर शायरी हिंदी में 2018, Ram Navami Shayari in Hindi 2018, राम नवमी पर शायरी, Ram Navami Shayari in Hindi, अग्रसेन जयंती पर शुभकामनाये 2018, अग्रसेन जयंती पर कविता 2018, Maharaja Agarsen Jayanti par kavita in Hindi, Maharaja Agarsen Jayanti par kavita in Hindi For Whatsapp or Facebook 2018, महाराज अग्रसेन जयंती स्पीच 2018, अग्रसेन जयंती पर शुभकामनाये, गाँधी जयंती पर नारे 2018, गाँधी जयंती पर नारे, गाँधी जयंती पर नारे इन हिंदी लैंग्वेज,स्वच्छता दिवस पर निबंध इन हिंदी, Swwachta Diwas Par Essay in Hindi, महात्मा गांधी पर निबंध 2018, स्वच्छता दिवस पर निबंध इन हिंदी लैंग्वेज, ढूंढ रहे है तो यह से प्राप्त कर सकते है| आशा करता हूँ आपको मेरी पोस्ट पसंद आएगी|

Ram Navami Par Kavita in Hindi

रामनवमी पर कविता 2018 - Ram Navami Par Kavita in Hindi 2018

“राम की महिमा जिन न जानी वो है मूढ़ महा अज्ञानी,
जो प्रभु का निय नाम है लेता उसकी कभी न होती हानि।

पाप बढ़ गया दुनिया में आ गया रावण राज,
शरण में जा श्री राम की अब वही रखेंगे लाज।

कितने भी अनमोल रत्न हों मिलते सागर की गहराई में
राम नाम से तो पत्थर तैरें दम है इस सच्चाई में।

अस्त-व्यस्त सी जिंदगी को मिलता बहुत सुकून,
राम नाम की शक्ति से जीने का मिलता जूनून।

आज के इस संसार में बुराई के होते काम
हर घर में रावण बसता कहीं न दिखते राम।

इक रावण की खातिर तूने त्रेतायुग में अवतार लिया,
कलयुग में लाखों रावण है कभी न तूने सार लिया।”

रामनवमी पर कविता 2018

रामनवमी पर कविता 2018 - Ram Navami Par Kavita in Hindi 2018

खुशियों के गीत गाओ
मिलजुल कर अब मनाओ

आई है राम नवमी
पापों को दूर करेगी ये नवमी

मंदिरों को सजाएं
घर में सुख शांति हम लाए

अब तो दुख दूर होंगे
रामनवमी पर सुखी हम होंगे

यह है हमारे लिए शुभ अवसर
आओ शीश हम नवाये

ब्राह्मणों को दान करके
खुशी हम मनाये

श्री रामचरित मानस का श्रवण हम करें
मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम को नमन हम करें

आया है रामनवमी का त्यौहार
लाया है खुशियां बेशुमार